कांग्रेस और राष्ट्रवादी के बीच होगा गठबंधन! दुनेश्वर पेठे ने नाना पटोले से की मुलाकात 

 कांग्रेस और राष्ट्रवादी के बीच होगा गठबंधन! दुनेश्वर पेठे ने नाना पटोले से की मुलाकात 

नागपुर:  भंडारा-गोंदिया विवाद के बाद अब एनसीपी नागपुर में कांग्रेस के साथ गठबंधन करने की कोशिश कर रही है। राकांपा के नागपुर शहर अध्यक्ष दुनेश्वर पेठे ने कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष नाना पटोले से मुलाकात की। एनसीपी नागपुर महानगरपालिका चुनाव में बढ़त बनाने की कोशिश में है। बीजेपी को हराने के लिए कांग्रेस-एनसीपी को साथ आना होगा। पेठे ने कहा कि पार्टी नेताओं की भूमिका है कि वे मिलकर चुनाव लड़ें। भंडारा-गोंदिया में एनसीपी और कांग्रेस के बीच तनातनी देखने को मिली। उसके बाद नाना पटोले ने सीधे राकांपा हाईकमान में शिकायत दर्ज कराई। उसके बाद अब एनसीपी और कांग्रेस ने नागपुर मनपा चुनाव में साथ आने की कोशिश शुरू कर दी है। पेठे ने कहा कि मोर्चे के प्रयास जारी हैं.

अलग-अलग जिलों से अलग-अलग सवाल

नागपुर में बीजेपी पिछले 15 साल से सत्ता में है। लोगों का काम नहीं हुआ है। जनता को इस संकट से मुक्त करने के लिए सरकार बदलने की जरूरत है। इसके लिए महाविकास अघाड़ी साथ आना चाहते हैं। नाना पटोले ने एनसीपी हाईकमान में शिकायत दर्ज कराई। इस पर दुनेश्वर पेठे ने कहा, अलग-अलग जिलों के अलग-अलग मुद्दे हैं। नागपुर मनपा में बढ़त बनाने के प्रयास जारी हैं।

जैसा होना वैसा नहीं हुआ विकास

नागपुर मनपा के स्कूल बंद होने के कगार पर हैं। शहर का विकास उस तरह नहीं हुआ जैसा होना चाहिए था। कुछ इलाकों में लोगों को पानी नहीं मिलता है। हम नेतृत्व करने की कोशिश करेंगे। दुनेश्वर पेठे ने यह भी स्पष्ट किया कि सीटों के बंटवारे पर सीनियर्स ही फैसला लेंगे। नागपुर में बीजेपी पिछले 15 साल से सत्ता में है। केंद्र में भी बीजेपी सत्ता में है. राज्य में पहले भाजपा का शासन था। इन सब परिस्थितियों के बावजूद नागपुर शहर का विकास नहीं हुआ। दुनेश्वर पेठे ने कहा कि भाजपा को उखाड़ फेंकने के लिए कांग्रेस और राकांपा को साथ आना चाहिए।

niraj

Related post